हाइड्रोजन जैसे परमाणु को द्वितीय बोर कक्षा से तृतीय कक्षा में उत्तेजित करने के लिए ऊर्जा 68.0" eV" की आवश्यकता होती है | नाभिक पर आवेश Ze है | ज्ञात कीजिए : (i) Z का मान, (ii) प्रथम बोर कक्षा में इलेक्ट्रॉन की गतिज ऊर्जा, (iii) प्रथम बोर कक्षा से अनन्त तक इलेक्ट्रॉन को भेजने के लिए आवश्यक विकिरण की तरंगदैधर्य |

Question from  Class 12  Chapter परमाणु

Apne doubts clear karein ab Whatsapp par bhi. Try it now.
CLICK HERE

Loading DoubtNut Solution for you

Watch 1000+ concepts & tricky questions explained!

200+ views | 400+ people like this

   
Share
Share

Answer Text

Solution :
(i) `68=13.6" Z"^(2)((1)/((2)^(2))-(1)/((3)^(2)))`, अत: `Z = 6` <br> (ii) प्रथम बोर कक्षा में इलेक्ट्रॉन की गतिज ऊर्जा `=13.6" Z"^(2)" eV"=489.6" eV"` <br> (iii) तरंगदैधर्य `lambda=(12375)/(489.6)Å=25.28Å` <br> (i) 6, (ii) 489.6 eV, (iii) `25.28Å`

Related Video

bottom open in app
bottom open in app