विभिन्न त्रिज्याओं वाले साबुन के घोल के दो बुलबुले मिलकर एक हो जाते है । यदि नये बुलबुले में भरी वायु के आयतन में परिवर्तन V हो तथा कुल पृष्ठ - क्षेत्रफल में परिवर्तन S हो , तो दर्शाइए कि 3 PV + 4 ST = 0, जहाँ T साबुन के घोल का पृष्ठ - तनाव है ।

Question from  Class 11  Chapter पृष्ठ - तनाव

Apne doubts clear karein ab Whatsapp par bhi. Try it now.
CLICK HERE

Loading DoubtNut Solution for you

Watch 1000+ concepts & tricky questions explained!

200+ views | 600+ people like this

   
Share
Share

Answer Text

Solution :
माना कि बुलबुलों की त्रिज्याएँ `R_(1)` व`R_(2)` तथा उन्हें मिलाने के बाद बने बड़े बुलबुले की त्रिज्या R है । प्रत्येक दशा में बुलबुलों के बाहर वायुमंडलीय दाब P है । यदि मिलाने से पहले बुलबुलों के भीतर दाब `p_(1)` व `p_(2)` तथा बाद में बड़े बुलबुले के भीतर दाब p हो , तब <br> `p_(1) = P +(4T)/R_(1) , p_(2) = P + (4T)/R_(2) "तथा " p = P +(4T)/R`. <br> यदि बुलबुलों के संगत आयतन `V_(1), V_(2)` व V' हो , तब `V_(1) = 4/3 pi R_(1)^(3),V_(2) = 4/3 pi R_(2)^(3) "तथा " V' = 4/3 pi R^(3)`. <br> यदि ताप नियत है , तब बॉयल के नियम से <br> `p_(1) V_(1) + p_(2) V_(2) = pV'` <br> अथवा `(P+(4T)/R_(1))(4/3 piR_(1)^(3))+(P+(4T)/R_(2))(4/3piR_(2)^(3))=(P+(4T)/R)(4/3piR^(3))` <br> अथवा `P(4/3piR_(1)^(3)+4/3piR_(2)^(3)-4/3 piR^(3)) +(4T)/3(4piR_(1)^(2)+4piR_(2)^(2)-4piR^(2))=0` <br> पहले ब्रेकिट के भीतर की राशि बुलबुले के आयतन में परिवर्तन V है तथा दूसरे ब्रेकिट के भीतर की राशि पृष्ठ - क्षेत्रफल में परिवर्तन S है । अतः <br> `PV + (4T)/3 S = 0` <br> अथवा `3PV + 4ST = 0`. <br> यही दर्शाना था ।

Related Video

2:17

300+ Views | 200+ Likes

2:16

200+ Views | 1.3 K+ Likes

3:54

500+ Views | 500+ Likes

4:41

200+ Views | 1.5 K+ Likes

5:04

500+ Views | 700+ Likes

6:02

300+ Views | 300+ Likes

3:09

200+ Views | 300+ Likes

bottom open in app
bottom open in app